जीजा की बहन को गोद में उठाकर चोदा और गांड भी मारी

loading...

हेल्लो दोस्तों, मैं रजनीश श्रीवास्तव आप सभी का नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से नॉन वेज स्टोरी का नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है। मेरी दीदी की शादी मिर्जापुर में हो गयी थी। मैं अक्सर दीदी के घर जाया करता था। मिर्जापुर में घूमने लायक कई दर्शनीय स्थान थे। इसलिए मैं खुद भी दीदी के घर घूमने चला जाता थे। मेरे जीजा यहाँ के डैम में इंजीनियर थे इसलिए हम लोग कभी भी डैम घूम सकते थे। पिछली बार होली में मैं दीदी के घर गया था। जीजा की बहन और मेरी दीदी की नन्द सुहानी से मेरी मुलाक़ात हुई। दोस्तों वो बहुत हॉट और सेक्सी माल थी। क्या फिगर था उसका। अच्छा ख़ासा 5’6” का फिगर था और जिस्म पूरा भरा हुआ था। मैंने मन ही मन में सोच लिया की मुझे कैसी भी करके सुहानी को पटाना है और कसके चोदना है। धीरे धीरे मैं अपने मिशन में लग गया। कभी मैं उसकी किचेन में मदद कर देता तो कभी उसकी सब्जियां काट देता। उसे हिंदी फिल्मों के नये नये गाने बहुत पसंद थे। मैं उसे रोज नई नई फिल्मो के गाने सुनाता। “रजनीश!! आखिर तुम मुझे इतना तेल मालिश क्यों लगाते है???” सुहानी मुझसे इशारों इशारों में पूछती
“तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो। सुहानी आई लव यू!!” मैंने बोल देता। पर वो मेरा मकसद खूब समझती थी। वो जानती थी की मैं उसे कसके चोदना और पेलना चाहता हूँ। पर वो भी 23 साल की जवान लौंडिया थी। धीरे धीरे वो मुझसे पट गयी। फिर मैं उसे लेकर मिर्जापुर के डैम घूमने चला गया। वहां पर हम दोनों से खूब मजे किये। डैम के किनारे हम दोनों काफी देर तक हाथ में हाथ डाले बैठे रहे। मैंने जी भर कर उसके होठ चूसे। आह!! उसके ताजे गुलाबी होठ थे जैसे कि मीठा पान। अब मैं उसे चोदना चाहता था और वो मुझसे चुदाना चाहती थी। हम दोनों घूम कर मजे लेकर घर आ गये। शाम को जीजा के एक दोस्त की बीबी की डिलीवरी होनी थी। तो जीजा और मेरी दीदी वहां चले गये। अब घर पर मैं और सुहानी बिलकुल अकेले थे। दीदी और जीजा के जाते ही मैं सुहानी के कमरे में चला गया।
“सुहानी चुदाई का मजा लिया जाए???” मैंने पूछा
वो बस मेरी आँख में ही देख रही थी। फिर उसने हाँ में सिर हिला दिया। मैंने उसे बाहों में भर लिया और किस करने लगा। सुहानी ने एक हलकी कॉटन टी शर्ट और शॉर्ट्स पहन रखे थे। सबसे पहले हम दोनों ने किस किया। फिर धीरे धीरे हम आगे बढ़ने लगे। मेरा हाथ सुहानी की चुस्त टी शर्ट पर चला गया। मैं हल्के हाथ से दबाने लगा और उसका साइज मालुम करने लगा।
“तुम्हारा तो बहुत बड़ा है। कितना साईंज है मम्मे का???” मैंने पूछा “36” सुहानी बोली
फिर मैं तेज तेज उसकी टी शर्ट के उपर से ही उसके बूब्स दबाने लगा। हम फिर किस करने लगे। काफी देर तक मैंने उसके बूब्स उपर से दबाए तो सुहानी चुदासी हो गयी। फिर उसने खुद ही अपनी टी शर्ट और ब्रा खोल दी। अब वो मेरे सामने नंगी थी। इधर मैंने भी अपनी टी शर्ट और जींस उतार दी। अब मैं भी नंगा था। मैंने अपने हाथ सुहानी के बूब्स पर रख दिए। जैसे बिजली के चालू तार को मैंने छू लिया. उफ्फ्फ्फ़!! कितनी बड़ी बड़ी, भव्य, गोल गोल बेहद खूबसूरत छातियाँ थी। मेरा दिल मचल गया था। मेरे हाथ उसकी नंगी कमसिन छातियों पर दौड़ने लगे। सुहानी “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा हा” की आवाज निकालने लगी। धीरे धीरे मेरे हाथ और तेज तेज उसकी रसीली छातियों को दबाने लगे। सुहानी हो भी नशा सा छा रहा था। फिर मैं झुककर उसकी छातियाँ पीने लगा। हम दोनों खड़े होकर रोमांस कर रहे थे। कुछ देर बाद सुहानी ने खुद ही अपने शॉर्ट्स निकाल दिए और पेंटी भी निकाल दी। मैंने उसकी चूत पर हाथ लगा दिया और जल्दी जल्दी सहलाने लगा। हम दोनों खड़े थे और पूरी तरह से नंगे थे। जैसे जैसे मैं उसकी चूत सहला रहा था सुहानी “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” की आवाज निकाल रही थी।
फिर मैंने उसे अपनी गोद में उठा दिया। उसकी चूत में मैंने लंड डाल दिया। सुहानी ने मुझे कसके पकड़ पकड़ लिया। मेरे कन्धों को उसने मजबूती से पकड़ लिया। मेरी कमर में उसने अपनी दोनों टाँगे जकड़ दी। फिर मैं उसे तेज तेज चोदने लगा। इस तरह से हम दोनों आज एक नया पोस ट्राई कर रहे थे। मै तेज तेज धक्के उसकी चूत में मार रहा था। हवा में उसकी चूत मार रहा था। मैंने उसे कसके पकड़ रखा था। अगर मैं 6 फिट का गबरू जवान लड़का ना होता तो मैं उसे इस तरह उठा के नही पेल पाता। सुहानी को मैं हवा में उछाल उछाल कर बजा रहा था। वो चुद रही थी। उसकी कुवारी चूत को मैं फाड़ रहा था। मुझे भरपूर संतुस्टी मिल रही थी। सुहानी का चेहरे मेरे चेहरे के पास ही था। जब मन करता था मैं उसे किस कर लेता था। दोस्तों उस दिन तो बहुत मजा आ गया था। अपने जीजा की बहन को मैंने कसके चोदा था। फिर कुछ देर बाद तो मैं और भी तेज धक्के मारने लगा। हवा में गोद में उठाकर उसको चोदने में बहुत ताकत लग रही थी, पर मजा भी खूब आ रहा था. सुहानी की रसीली चूत से पट पट चट चट की आवाज आने लगी। अगर वो मुझे कसके नही पकड़ती तो नीचे गिर जाती. उनके खूबसूरत मम्मे मेरे सीने से दब रहे थे. मुझे गुल गुल लग रहा था.
उफ्फ्फ्फ़कितनी मांसल चूचियां थी उसकी. उसने उत्तेजना में आँखें बंद कर ली और गपा गप ठुकाई का आनंद लिया। कुछ देर बाद मैं खुद को रोक ना सका। गोद में उठाकर पेलते पेलते उसकी चूत में मेरा माल निकाल दिया। जीजा की बहन अब चुद चुकी थी। अब मैंने उसे अपनी गोद से नीचे उतारा।
“रजनीश!! यू आर सो हॉट!!” सुहानी बोली
उसके बाद हम बिस्तर पर लेट गये। किस करते करते हम सो गये। रात के 9 बजे मेरी दीदी का फोन आया की वो हॉस्पिटल में ही रुकेगी। अभी डिलीवरी नही हुई है। मैं खुशी से उछल पड़ा।
“क्या हुआ रजनीश??? इतना खुश क्यूँ हो????” सुहानी ने पूछा
“जान!! आज सारी रात हम ऐश कर सकते है!! क्यूंकि जीजा और दीदी आज रात हॉस्पिटल में ही रहेंगे!!” मैंने कहा और सुहानी के पुट्ठे सहलाने लगा। “तुम फिर मुझे अभी चोदो!! इंजतार किस बात का?” सुहानी किसी देसी छिनाल और रंडी की तरह बोली। हम दोनों फिर से किस करने लगे। अब हम दोनों लेटकर चुदाई करने वाली थे। मेरी नजर सुहानी के नंगे जिस्म पर पड़ी। १ जोड़ी सुंदर पाँव और उनकी गोल मटोल १० उँगलियाँ, मेरा तो माथा ही घूम गया। मैंने सब कुछ छोड़ के उसके खूबसूरत पावों को चूम लिया। उसकी टाँगे बड़ी की चिकनी, चमकदार और गोरी थी। मैंने उसकी दोनों टांगों को बारी बारी कई बार चूमा। होश उड़ गए। वो शर्म से गड़ी जा रही थी। उसके घुटने भी दुधिया गोरे रंग के थे। मैंने कुछ देर उसके रूप को निहारा और फिर दोनों घुटनों को चूम लिया। सुहानी की चूत की खुशबू मेरी नाक के नथुनों में आने लगी।
“उफ्फ्फफ्फ्फ़।।।।इसी रसीली बुर!!” जब टांगे, टखने, पैर इतने खूबसूरत है तो इन सब अंगों की रानी उसकी चूत कैसी होगी?? मैं मन ही मन सोचने लगा। सुहानी की मस्त गदराई जांघो के दर्शन हुए तो लगा की खुदा मिलने वाला है। उसकी जांघे खूब गोल गोल मांसल गदराई हुई थी। उसका सौंदर्य अभूतपूर्व था। भगवान से उसे बड़ी फुर्सत में बैठकर बनाया था।
मैं बार बार उनके नंगे बदन को सहला रहा था। आज मैं उसे कसके चोदना चाहता था। ये हमारा चुदाई का दूसरा राउंड होने वाला था। मेरे हाथ बार बार सुहानी की नंगी गदराई चूचियों पर दौड़ जाते थे। उसकी चूचियां बड़ी गोल मटोल और तनी हुई नारियल के आकार की थी। कितनी बड़ी बड़ी और रसीली थी। मुझे उसे हाथ में लेकर बेहद मजा आ रहा था। मेरा लंड पूरी तरह खड़ा हो चुका था। वो बहुत गोरे खूबसूरत जिस्म की मालकिन थे। मैंने उसे बाहों में भर लिया। उसकी साँसे मेरी सांसों से टकराने लगी। हम दोनों किस करने लगे। एक बार फिर से मेरे हाथ उसकी कमर और गोल मटोल पुट्ठों पर चले गये। मैं बिना रुके उसके पुट्ठे सहला रहा था। उसे भी भरपूर मजा मिल रहा था। हम दोनों गर्म हो गये थे। साफ़ था की अब हम दोनों गरमा गर्म चुदाई करने वाले थे। “प्लीस रजनीश!!! आओ मुझे चोदो ना और कितना तड़पाओगे???” सुहानी मिन्नते करती हुई बोली
मैं उसके उपर लेट गया और उसकी चूचियों को मैंने किसी पान की तरह मुंह में भर लिया, फिर जल्दी जल्दी चूसने लगा। मुझे बहुत मजा मिल रहा था। उसकी चूचियां बड़ी मुलायम और नर्म थी। मुझे तो सीधी जन्नत मिल रही थी। मैंने 15 मिनट तक जीजा की बहन की चूची पी। फिर चूत में लंड डाल दिया। मैं सुहानी को चोदने लगा। उसने मुझे बाहों में भर लिया और जल्दी जल्दी लंड खाने लगी। उसका चेहरा पिचक सा गया था। मैं उसकी सांसे पी रहा था। मेरी कमर जल्दी जल्दी नीचे उपर हो रही थी। मैं उसे जल्दी जल्दी चोद रहा था। उसकी बड़ी बड़ी 36” की छातियाँ मेरे सीने के वजन से दब रही थी। मुझे बड़ा मुलायम मुलायम लग रहा था। धीरे धीरे मेरे धक्को की रफ्तार बढ़ने लगी। मैं जल्दी जल्दी उसे ठोकने लगा। उसकी चुद्दी से चट चट की आवाज आने लगी। लगा की मैं उसके साथ दिवाली के पटाखे दगा रहा हूँ। मुझे अब चुदास और और जादा नशा चढ़ गया था। मैं और तेज धक्के सुहानी की चुद्दी में मारने लगा। फिर हम दोनों के जिस्म अकड़ गये। मैंने अपना माल उसकी चूत में निकाल दिया। दूसरे राउंड की चुदाई पूरी हो चुकी थी। मैंने फ्रिज से ओरेंज जूस की एक बोतल निकाली और २ ग्लासों में दूध निकाला। हम दोनों ने जूस पिया।
उसके बाद हम दोनों ने साथ में नहाया और मजा किया। सुहानी खाना बनाने चली गयी। तब तक मैंने एक फिल्म देख ली। रात के 2 अब बज चुके थे। हम दोनों एक ही बिस्तर पर लेटे थे क्यूंकि रात में अकेले सुहानी को सोने में डर लगता था।
“सुहानी!! गांड दे ना!!” मैंने कहा
“नही रजनीश! दर्द होगा!” सुहानी बोली
“हाँ दर्द होगा पर बाद में तुझे भरपूर मजा मिलेगा!!” मैंने उसे विश्वास दिलाया। बड़ी चापलूसी करने के बाद सुहानी गांड चुदाने को राजी हो गयी। मेरा सुहानी की गांड मारने का बहुत मन था। उसके बाद मैंने सुहानी की टांगे खोल दी और उसकी गांड के नीचे २ मोटी तकिया लगा दी। अब उसकी गांड का छेद अब उपर आ गया था। मैं झुककर उसकी गांड में थूक दिया और झुककर अपनी जीभ से उसकी कसी कसी गांड पीने लगा। दोस्तों सुहानी बहुत गोरी थी इसलिए उसकी गांड भी बहुत खूबसूरत, चिकनी, सफ़ेद और सुंदर थी। मैंने बड़ी देर तक सुहानी की गांड को जीभ लगाकर चाटा और मजा लिया। फिर मैंने अपना 8” का मोटा लंड उसकी गांड पर रख दिया और जोर का धक्का मारा। सुहानी“….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” बोलकर
चिल्लाने लगी। मेरे मजबूर और ताकतवर लौड़े से सुहानी की कसी गांड की सील तोड़ दी थी। उसमे से खून निकल रहा था। वो चीख रही थी। मैं धीरे धीरे उसकी कुवारी गांड को चोदने लगा। उसकी गांड बहुत कसी थी। मैं धीरे धीरे अपने लौड़े को अंदर बाहर करने लगा।
मुझे बहुत कसा कसा लग रहा था। मैं उसे पेलने लगा। उसे दर्द में कराहते देख मुझे बहुत आनंद महसूस हो रहा था। मैं उसकी गांड में जूझ रहा था। मेरे मोटे लंड ने अपना कमाल दिखा दिया था। फिर 15 मिनट बाद सुहानी की गांड का दर्द खत्म हो गया। मैं जल्दी जल्दी उसकी गांड चोदने लगा। सुहानी जल्दी जल्दी मुंह से गर्म गर्म हवा छोड़ने लगी। उसकी आँखें उलट गयी थी। उसकी हालत खराब थी। “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम
अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” की आवाज वो निकाल रही थी। मुझे खुशी मिल रही थी। फिर मैं तेज तेज धक्के उसकी गांड में देने लगा। उफ्फ्फ्फ़ कितनी कसी और कुवारी गांड थी सुहानी थी। मैंने 40 मिनट उसकी गांड चोदी और माल भी उसे में गिरा दिया। मेरे जिस्म और मत्थे पर पसीना छूट गया था। उधर सुहानी भी हांफ रही थी। मैंने अपना लंड उसकी गांड से निकाल लिया। वो अपनी गांड सहलाने लगी क्यूंकि अभी भी उसे दर्द हो रहा था। मैंने लंड को सुहानी के मुंह के सामने कर दिया और जल्दी जल्दी फेटने लगा। कुछ देर बाद मेरे लंड से फिर से 5 6 पिचकारी माल की निकली जो सीधा सुहानी के मुंह पर जाकर गिरी। वो बहुत चुदासी फील कर रही थी। मेरे माल को उसने मुंह में ले लिया और सारा माल पी गयी। ये वाली हम दोनों की अब तक की सबसे शानदार चुदाई थी। मैंने अपना लंड उसके मुंह में डाल दिया। वो मजे लेकर से मेरा ९” का लौड़ा चूसने लगी। धीरे धीरे उसे अच्छा लगने लगा। वो जल्दी जल्दी मेरे लौड़े को हाथ से फेट भी रही थी। मुझे अलग तरह की यौन उतेज्जना महसूस हो रही थी। अब मेरा लौड़े ३ इंच मोटा हो गया था। सुहानी इसे किसी आइसक्रीम की तरह चूस रही थी। मुझे मजा आ रहा था। मेरा लौड़ा तो किसी खूटे की तरह दिख रहा था। बिलकुल तम्बू दिख रहा था। सुहानी इसे अपने मुंह में पूरा अंदर तक गहराई तक लेने लगी और लगन से चूसने लगी। मुझे तो परम आनंद मिलने लगा। अब मेरा लंड बहुत सुंदर और गुलाबी लग रहा था। लंड पूरी तरह से खड़ा हो चुका था। सुहानी की उँगलियाँ उसपर जल्दी जल्दी घूम रही थी और मेरे लंड को फेट रही थी। मुझे आनंद आ रहा था। मैंने उसके सिर को दोनों हाथो से पकड़ लिया और जल्दी जल्दी लेटे लेटे ही उसका मुंह चोदने लगा। उसे तो साँस तक नही आ पा रही थी। मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने काफी देर तक मुख मैथुन का मजा ले रहा था। उसके बाद हम दोनों साथ में ही लेट गये और सो गये। सुबह दीदी आई तो उन्होंने बताया की जीजा के दोस्त की बीबी को लड़का हुआ है। जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ है और खतरे की कोई बात नही है। ये सुनकर हम सब बहुत खुश थे। कहानी आपको कैसे लगी, अपनी कमेंट्स नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर जरुर दे।

loading...
loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


shadi m daru pila k chodaihide stori xxx .comगे सेक्स कहानी पापै तो बेटा इन हिंदीबरा पेटी और लड की शायरी और जोकस dibali me cudane ki kahaniरंगीला ससुर सेक्स स्टोरीSASU MAA KE CHUDAIdibali me cudane ki kahaniमरे ट्रैन में चुदाईरात में विधवा आंटी को चोदाsax khaniyaजेठ.और.देवर.ने लँड.की रखैल बनायाdibali me cudane ki kahaniजेठान ने चोदाxxx chodee bur ka barananahotsexstory.xyz ajnabi ne kali se phool banayahotsexstory.xyz ajnabi ne kali se phool banayadibali me cudane ki kahanimakan malkenSex stores in hindicoolegesexstory.comपायल पाठक की लेस्वियन सेक्स कहानीGULABE BUR KE XXX FOTUभोसड़ी को फाड़ा विडियोparae aurat ne chodvaya सगे aunty kaise sex ke liye patayeHindi sex story Diwali maलड़की की चूड में से मूतxxx kaniyaBude aadmi se chut marbane ka majahindi mami bua mushi didi ma seaxy satoribaykochi chud moti aahe kay krusehali ke awara bhai ne meri jabardsthi chut fadi sex story in hindinon veg kahani mom son xxx kahaniबरा से बोबे लटक रहे थे देवर जीभ चाटने लगाdibali me cudane ki kahaniरंडी बीबी गोवा मेंघर का माल सेकसि कहानिनॉन वेज पशू सेक्स कहानीxx hide storydibali me cudane ki kahaniKarwachoth par jet ne meri gad mari hindi sex storyKAHANI GROUP KI 2019 XXXjabarjasti sex vedio daula kar sexबाप लेक प़णय कथाजीजू ने मेरी बुर चोदीxxx kaniyachudai kahaniya meri maa muhaale ki randi.hr desi khet chudai 2mintSEX KAHANIHindi sex kahaniwww xxx bhai bahan ki cudai kahaniyadibali me cudane ki kahaniभतीजी की ठुकाई कहानी जबर्दस्तपायल पाठक की लेस्वियन सेक्स कहानीkamuktabibiHoneymoon sali nonvegstorymami sleeper bus sex story in hindidibali me cudane ki kahanihotsexstory.xyz ajnabi ne kali se phool banayaSex ki khani bua kai bati kai sath mota lund ssi pailaमा की ब्रा की खुस्बू सेक्सी storyhotsex kahani hindimaapni sagi maa ka paticot me hath dala jabardasti sex storychacha bhataji hindi sex jokesबरा पेटी और लड की शायरी और जोकस गोवा की सेकसी अवरतनये साल पर चुदाईchachi ko honeymoon pe simla ma chodasex storyमाँ नेँ मेरा लण्ड लिया storieshindisexestoryपांच गैर मर्दो से chudaiके खेल मे चुडाई इन मराठी स्टोरीkamuktabibiपापा ने चिकनी जवान बेटी की बुर मेंMausi or uski Chuddakad saheli ne chudwaya Daaru pike antarwasnajamai ni विधवा सासु को चोदाchut kA bhosda banya carwale ne ki sexy storyभभि कि चुदाइ कहानी.comशादी मई छोटी लड़की को नींद में पेला स्टोरीwidhwa ki chudai aur bacha hua sex storyलवडाचे ImagesWww.Antarwasna Kahani.Comnonveg sex joks buddabhai khuleaam sex kahaniहिन्दी यौन कथा मा बेटेmummy ki dusri shadi पिताजी ke dehant ke बुरा सैक्स storiसंभोग कथा मराठितnurse aur mareej chudai kahanidibali me cudane ki kahani